Bhed Palan Kaise Kare – भेड़ पालन की पूरी जानकारी, लोन, सब्सिडी, आवेदन प्रक्रिया, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Written by Anita Yadav

Published on:

Bhed Palan Kaise Kare: जैसा की आप सभी जानते हैं भारत एक विशालकाय देश है और इसकी ज्यादातर आबादी गावों में रहती है। गावों में रहने वाले ज्यादा हमारे भाई बहन पशुपालन करके अपना जीवन यापन करते है। जिस प्रकार से हमारे एक आर्टिकल बकरी पालन कैसे करें में आपको जानकारी दी गई थी उसी प्रकार भेड़ पालन का व्यवसाय भी एक बेहद ही फायदेमंद वाला व्यवसाय है। भेड़ पालन कोई भी व्यक्ति बहुत ही आसानी से कर सकता है। भेड़ पालन करने में ज्यादा खास नॉलेज की जरुरत भी नहीं होती। बस कुछ बेसिक सी जानकारी अगर आपको है तो आप आसानी से भेड़ पालन का व्यवसाय कर सकते हैं।

Table of Contents

आज इस आर्टिकल में मैं आपको बताउंगी की Bhed Palan Kaise Kare। भेड़ पालन करने के फायदे क्या क्या है। Bhed Palan में खर्चा कितना आता है और भेड़ पालन करने में बचत कितनी होती है। इसके अलावा भी Bhed Palan में किन किन बातों का ध्यान रखना होता है ये सब जानकारियां आपको इस आर्टिकल में मिलने वाली हैं। उम्मीद है आपको इस आर्टिकल में दी जानकारी काफी हेल्पफुल होगी। अगर आपको आर्टिकल पसंद आता है तो ऐसे शेयर जरूर करना और साथ में मुझे कमेंट करके भी बताना। चलिए अब बात करते हैं अपने मैं टॉपिक की।

भेड़ पालन कैसे करें – Bhed Palan Kaise Kare

देखिये भाइयों बहनो, सबसे पहले आपको Bhed Palan शुरू करने से पहले कुछ बातों के बारे में विचार करना होगा। जैसे की आप भेड़ पालन का व्यवसाय कितने बड़े स्तर पर करना चाहते हैं। भेड़ पालन के लिए आपको जगह देखिनी होगी। Bhed Palan के लिए आपको चारे का प्रबंध करना होगा। भेड़ पालन के लिए आपको एक पशु चिकित्सक की जरुरत पड़ने वाली है। खैर ये सब तो कुछ बेसिक सी बातें हैं जो गावं देहात में आसानी से मैनेज हो जाती है।

साथ में Bhed Palan के लिए उपयुक्त जलवायु है की नहीं और जब भेड़ खरीदेंगे तो भेड़ों की उन्नत नस्लें कौन कौन सी हैं। ये सब बातें आपको आगे पढ़ने को मिलेंगी। सबसे पहले आपको बता दें की Bhed Palan में लगत बहुत ही काम है। अगर आप पहली बार इस व्यवसाय में हाथ डाल रहे है तो आपको भेड़ पालन 10 भेड़ों के साथ शुरू करना चाहिए। इससे आपको ज्यादा परेशानी भी नहीं होगी और धीर धीरे इनकी ददत बढ़ने के साथ ही ये एक बड़ा व्यवसाय भी बन जायेगा।

भेड़ पालन करने वाले देश कौन कौन से हैं – Bhed Palan Karne Wale Desh Kaun Kaun Se Hai

अब जब आप Bhed Palan करने जा रहे हैं तो आपको कुछ इसके बारे में जानकारी दे देते हैं। भेड़ पालन केवल भारत में ही नहीं अपितु पूरी दुनिया में किया जाता है। भारत भेड़ पालन में दुनिया भर में तीसरे स्थान पर आता है। इसका मतलब भारत से भी ज्यादा भेड़ पालन करने वाले और भी देश हैं। भारत के अलावा चीन, सूडान, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रलिया और ईरान जैसे देशों में भी Bhed Palan का व्यवसाय बहुत बड़ी तादात में किया जाता है।

भारत में जम्मू कश्मीर, राजस्थान, कर्नाटका, महारष्ट्र, गुजरात और उत्तरप्रदेश भेड़ पालन करने में सबसे आगे हैं। भारत में Bhed Palan से बहुत बड़ी मात्रा में उन पैसा की जारी है जिसको निर्यात भी किया जाता है। इसलिए भेड़ पालन का व्यवसाय हमेशा फायदे का सौदा होता है।

भेड़ पालन करने के लिए स्थान का चुनाव कैसे करें – Bhed Palan Ke Liye Shed Kaise Banaye

जब Bhed Palan करने की बात आती है तो हमें इसके लिए कोई स्थान भी देखना होता है जहाँ भेड़ों को रखा जाएगा। भेड़ पालन के लिए जगह गावं से बाहर ऐसी जगह पर होनी चाहिए जहाँ से कनेक्टिविटी भी अच्छी हो। साथ में भेड़ों को रखने की जगह थोड़ी ऊंचाई पर हो तो अच्छा रहता है क्योंकि जल भराव की समस्या नहीं आयेगी।

साथ में वाहन पर्याप्त मात्रा में पानिकाप्रबंध होना चाहिए और सेड के अंदर हवा और रौशनी का भी प्रबंध पूरी तरह से सुनिश्चित होना चाहिए। रास्तों से कनेक्टिविटी अच्छी रहेगी तो आपको भेड़ों का चारा और अन्य सामान लाने ले जाने में आसानी रहेगी। Bhed Palan के लिए सेड का निर्माण कभी भी सोर वाली जगह पर नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे भेड़ परेशान हो जायेंगी और अपने आपको एडजस्ट नहीं कर पाएंगी।

भेड़ पालन के लिए भेड़ की नस्ल का चुनाव कैसे करें – Bhed Palan Ke Liye Bhed Ki Nasl Ka Chunav

Bhed Palan करने के लिए आपको आपके क्षेत्र की जलवायु के हिसाब से भेड़ की नस्लों का चुनाव करना होगा। भेड़ों में कौन कौन सी नस्ल होती है उसके बारे में भी आपको बतायेंगे। सभी भेड़ों की नस्ल सब तरह की जलवायु में नहीं रखी जा सकती इसके लिए आपको इनकी नस्लों की जानकारी बहुत अच्छे से होनी चाहिए।

भेड़ों की प्रमुख भारतीय नस्लों के नाम कौन कौन से हैं – Bhed Ki Parmukh Nasal Kaun Kaun Si Hai

भारत में Bhed Palan करने के लिए बहुत सी नस्लों की भेड़ें पाई जाती है। इनमे से कुछ प्रमुख नस्ल है जो यहां बताई गई है। भेड़ों की इन नस्लों को तीन भागों में बाटा गया है।

दूध देने वाली भेड़ की नस्लें – Doodh Dene Wali Bhed Kaun Kaun Si Hai

  • नुरेज भेड़
  • गुरेज भेड़
  • कूका भेड़
  • लोही भेड़

मांस प्राप्त करने के लिए भेड़ों की नस्लें – Mans Dene Wali Bhed Kaun Kaun Si Hai

  • साहवादी भेड़
  • जालौनी भेड़
  • हसन भेड़
  • मांड्या भेड़
  • बजीरी भेड़
  • नैल्लोर भेड़

ऊन प्राप्त करने के लिए भेड़ों की नस्लें – Uun Dene Wali Bhed Ki Nasl Kaun Kaun Si Hai

  • मागरा भेड़
  • मारवाड़ी भेड़
  • चोकला भेड़
  • भादरवाल भेड़
  • दक्कनी भेड़
  • बीकानेरी भेड़
  • भाकरवाल भेड़
  • मालपुरा भेड़
  • बैलारी भेड़
  • जालौनी भेड़
  • काठियावाड़ी भेड़

तो भाइयों और बहनो ये थी भारत में पाई जाने वाली भेड़ों की प्रमुख भेड़ों की नस्ले। आप अपने Bhed Palan के वयवसाय के लिए इनमे से कोई भी एक प्रजाति की भेड़ का चुनवा कर सकते है। इनमे से आप Bhed Palan का व्यवसाय की पर्पज से करना चाहते है उसी हिसाब से आप चुनाव करेंगे तो बढ़िया रहेगा।

भेड़ पालन में कितना खर्चा आयेगा – Bhed Palan Me Kitna Kharcha Aayega

भेड़ पालन के व्यवसाय में वैसे ज्यादा खर्चा नहीं आता लेकिन मोटा मोटी आपको एक आईडिया आपको यहां बता देते है। देखिये भाइयों अगर आप 10 भेड़ों के साथ अगर ये बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो भेड़ खरीदने के लिए आपको लगभग 50 से 60 हजार का खर्चा आयेगा। एक भेड़ की कीमत लगभग 3 से 9 हजार तक होती है और ये कीमत भेड़ की नस्ल के मुताबित तय होती है। इसमें आपको एक मेंढा यानि की नर भेड़ भी लेना होगा जिससे की आपकी भेड़ें समय पर गर्भाधान की प्रक्रिया पूरी कर सके। इसके अलावा आपको भेड़ पालने लिए बाड़े का निर्माण भी करना होगा।

10 भेड़ों के लिए आपको लगभग 100 गज का बड़ा पर्याप्त रहेगा। हालाँकि थोड़ा बड़ा है लेकिन भेड़ों की तादात बढ़ने के बाद आपकोपरेशानि नहीं होगी। बड़ा बनाने में आपको 15 से 20 हजार का खर्चा आ जायेगा। इसके अलावा आपको भेड़ों के चारे का प्रबंध करना होगा और साथ कुछ पानी आदि का भी प्रबंध करना होगा। इन सबमे भी लगभग 20 से 30 हजार का खर्चा आसानी से हो जायेगा। कुल मिलकर लगभग 1 लाख रूपए का खर्चा आपका भेड़ पालन करने में हो ही जायेगा।

भेड़ पालन में भेड़ों के चारे का प्रबंध

Bhed Palan में चारे का प्रबंध करना भी बहुत जरुरी होता है। लेकिन ग्रामीण ेलकाओं में इसके लिए आपको ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा। भेड़ सबसे ज्यादा पेड़ो की पत्तियां और सूखी हुई घास खाना ज्यादा पसंद करती है तो इसके लिए आपको इसका प्रबंध करना होगा। गावं में भेड़ो को दिन में एक बार बड़े से बाहर निकलकर मैदान या फिर पहाड़ों पर लेकर जाना चाहिए। इससे आपको भेड़ों के चारे के प्रबंध में भी परेशानी नहीं आएगी और बाहर ले जाने से भेड़ अपना पेट भी आसानी से वहां भर लेंगी। घास के मैदानों में और पहाड़ों पार हरी घास और वहां मौजूद पेड़ों की पतियों को भेड़ बड़े चाव से खाती हैं।

भेड़ों के बड़े में स्थान सुनिश्चित करना

आपके भेड़ पालन के पड़े में आपको भेड़ों के लिए अलग अलग स्थान निर्धारित करना होगा। नर भेड़ के लिए आपको अलग से स्थान बना होगा और गर्भवती भेड़ों को अलग स्थान पर रखना होगा। इसके अलावा भेड़ो के मेमनो को भी आपको अलग स्थान पर रखना होगा।

बड़े में स्थान का निर्धारण करने के लिए आप लकड़ी की बल्लियों का सहर ले सकते है। बल्लियों के सहारे आप भेड़ो की संख्या के आधार पर ही आपको जगह निर्धारित करके बराबर से अलग अलग हिस्सी में बांटनी चाहिए।

भेड़ पालन में कितनी कमाई होती है – Bhed Palan Me Kitni Kamai Hoti Hai

जब आप Bhed Palan करने लगेंगे तो आपको उससे होने वाली कमाई के बारे में भी जरूर मालूम होना चाहिए। भेड़ पालन में मुख्य रूप से तीन तरीके से कमाई होती है। जैसा की हमने आपको ऊपर बताया था की भेड़ों की नस्लों को तीन कैटेगरी में बनता गया है। उसी प्रकार आपकी इनकम भी होती है।

भेड़ो की संख्या भी जल्दी जल्दी बढ़ती है। अगर आप 10 भेड़ों के साथ अपना व्यवसाय शुरू कर रहे है तो आप मान कर चलिए की एक साल के अंदर आपके पास लगभग 25 से 30 भेड़ हो जाएगी। एक भेड़ एक साल में दो बच्चों को जन्म देती है। इसलिए अगर सही समय पर हर एक भेड़ गर्भ धारण कर लेती है तो आपके पास भेड़ों की संख्या एक साल के अंदर तीन गुना हो जाएगी।

एक Bhed Ki Kimat अगर हम 5000 भी मानकर चले तो आपको 10 भेड़ों के बिज़नेस से ही एक साल में एक लाख का मुनाफा हो जायेगा और ठीक ऐसी तरह से आप जितनी अधिक Bhed Se Business शुरू करेंगे उतनी ही अधिक आपकी कमाई होने वाली है।

इसमें से अगर आप अपना भेड़ पालन करने में होने वाले खर्चे को भी निकाल दे तो भी आपको बहुत मुनाफा होने वाला है। इसलिए गावं देहात में भेड़ पालन करना बहुत ही फायदे का सौदा रहता है।

भेड़ों की ऊन की कटाई कैसे करवायें

Bhed Palan करते है तो आपको पता ही होगा की Bhed Palan में ऊन की कटाई से कमाई बहुत अधिक होती है। इसके लिए आपको अपने इलाके में भेड़ों की कटाई करने वाले लोगों की तलाश करनी होगी। आप चाहे तो अपने बड़े में ऊन की कटाई करवाकर ऐसे बाजार में बेच सकते है या फिर अपनी भेड़ों को कटाई वाली जगह पर ले जाकर भी करवा सकते है।

भेड़ो की ऊन की कटाई मैन्युअल और आटोमेटिक दोनों तरह की मशीनो से की जाती है। भेड़ के ऊन को काटने से पहले उनको अच्छे तरीके से नहलाना पड़ता है इसलिए आपको इसका भी प्रबंध करना होगा। आपको बता दें की आटोमेटिक मशीन से लगभग 150 से 200 भेड़ों की कटाई आसानी से हो जाती है वहीँ अगर मैन्युअल मशीन की बात करें तो एक दिनमे लगभग 25 से 30 भेड़ों की ही कटाई हो पाती है।

भेड़ों के खाद और अपशिष्ट प्रबंधन कैसे करें

Bhed Palan ये ध्यान रखना बहुत जरुरी हो जाताहै की भेड़ो का बड़ा हमेशा साफ सुथरा रहे। इसलिए लिए आपको प्रतिदिन इसकी सफाई पर ध्यान देना होगा। अगर बाड़े की मिटटी कच्ची है तो आपको रोजाना इसकी सफाई करने के बाद इस पर बालू नए सिरे से बिछा देनी चाहिए। भेड़ों का बाड़ा साफ सुथरा रहने से वहां किसी भी प्रकार के रोग फैलने की सम्भावना कम हो जाती है।

भेड़ों के गोबर को आपको एक जगह पर रूड़ी के ढेर के रूप में एकत्रित करना चाहिए क्योंकि ये बहुत ही अच्छे खाद का काम करता है। एक भेड़ औसतन एक वर्ष में लगभग 100 किलों के आसपास अपशिस्ट करती है। इसलिए इसको एक जगह एकत्रित करते रहें। किसानो को इसको बेचकर भी आप लाभ कमा सकते है।

दूध या मांस के लिए भेड़ों का चुनाव कैसे करना होता है

Bhed Palan में ये भी जानना बहुत जरुरी होता है की आपको किन भेड़ों को दूध के लिए इस्तेमाल करना है और किन भेड़ों को आपको मांस उत्पादन के लिए बेचना है। हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादातर जब भी कोई भेड़ बच्चा देती है तो अगर वो बच्चा मादा है तो उसको आगे भेड़ों की संख्या बढ़ने के लिए अपने पास रख लेते है लेकिन अगर वहीँ पर भेड़ एक नर मेमने को अगर जन्म देती है तो फिर उसको बेच देते है और उसके बदले में पैसे ले लेते है।

आपको असा नहीं करना है। आपको उस मेमने को बड़ा होने तक अपनेपास ही रखना चाहिए ताकि उसको बेचने पर अच्छा खासा मुनाफा हो सके। एक मादा भेड़ अपने जीवन में औसतन 7 से 9 बाद बच्चे पैदा करती है। इसलिए भेड़ का ये समय पूरा होने के बादउसको मंस के उत्पादन के लिए बेच देना चाहिए।

अधिकांश भेड़ें एक वर्ष की आयु में बच्चे पैदा करने लगती है इसलिए एक भेड़ को उसके आखिरी ब्यात तक आपको दूध प्राप्ति के लिए इस्तेमाल करना चाहिए और उसमे नर मेमने को भी बेचने की जगह अपने पास ही रखना चाहिए। भेड़ों में पूर्वी फ्राइज़ियन, लाकाइन और असफ नस्ल की भेड़ दूध प्राप्त करने वाले पशुपालन व्यापारी अधिक रखते है क्योंकि इन प्रजाति की भेड़ें अधिक दूध देती हैं।

About Anita Yadav

Greetings to all farmer brothers. My name is Anita Yadav and I write articles related to Kisan Yojana for you on this website. I am a resident of village and associated with agriculture, so I have seen it very closely. We have to know very closely about the problems faced by the farmer brothers in agriculture. That's why I share the information related to agriculture with all of you. I hope that the information given by me will be of some use to all of you.

Leave a Comment