बकरी पालन योजना क्या है | Bakri Palan Kaise Kare | लोन कैसे लें, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, सब्सिडी

Written by Vinod Yadav

Updated on:

Bakri Palan Kaise Karen: हमारे पूरे भारत में प्राचीन समय से लोग जानवरों को पालते आ रहे हैं। कुछ लोग जानवरों को अपनी आय का साधन मानते हैं एवं कुछ लोग शौक के लिए एवं दूध, दही के लिए जानवरों को पालते हैं।

Table of Contents

इसी के साथ हमारे देश में बकरियों को पालने का प्रचलन भी बहुत समय से चला आ रहा है। इस प्रचलन को देखते हुए राजस्थान सरकार ने राजस्थान राज्य में बकरी पालने वाले लोगों के लिए बकरी पालन योजना (Bakri Palan Yojana) की शुरुआत की है।

आज के समय में हम जानते ही हैं की सरकारी नौकरियां मिलना बहुत कठिन हो गया है, इस कारण लोग अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। यदि आप भी रोजगार से वंचित हैं, तो आप Bakri Palan Yojana का फायदा उठाकर बिजनेस कर सकते हैं। इसमें आपको खुद की कमाई होगी,साथ ही आप इस योजना में नौकर के बजाय मालिक होंगे और अनलिमिटेड कमाई कर पाएंगे। इस योजना से बिजनेस करने के लिए आपको बहुत कम खर्च उठाना होगा और सरकार भी इस योजना के लिए लोन प्रदान करेगी।

Rajasthan bakri palan Yojana में लाभ उठाने के लिए अगर आवेदक पढ़ा लिखा नहीं है।  फिर भी आवेदक  इस योजना का लाभ उठा सकता है। यह योजना क्या है?, कैसे काम करती है?, इससे कितनी कमाई होती है?, इसके क्या उद्देश्य हैं?, एवं इसमें आवेदन कैसे करें?, आदि के बारे में आज की इस पोस्ट में हम विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

बकरी पालन योजना क्या है? – Bakri Palan Kaise Kare Hindi Me

राजस्थान राज्य की सरकार के द्वारा बजट 2023-24 में बकरी पालन योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत राजस्थान राज्य का जो भी व्यक्ति बकरी पालन का बिजनेस करना चाहता है, वह सरकार से लोन ले सकता है। इस लोन में ब्याज की दर बहुत कम लगाई जाएगी।

इसे भी पढ़ें: यूपी किसान कर्ज माफ़ी योजना (Kisan Karj Mafi Yojana UP) पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, लिस्ट

सामान्य वर्ग के लोग अगर इस योजना के तहत बैंक से लोन लेते हैं, तो उनको 50% की छूट मिलेगी। साथ ही जो अधिकृत जनजाति के लोग हैं। अगर वह इस योजना में बिजनेस करने के लिए ऋण लेते हैं, तो उनको 60% की छूट दी जाएगी। Bakri Palan Yojana का अगर आप बिजनेस कर रहे हैं,तो आपको कम से कम 5 साल तक इस बिजनेस को लगातार करना होगा।

बकरी पालन योजना के मुख्य उद्देश्य – Desi Bakri Palan Kaise Kare

बकरी पालन योजना को शुरू करने का प्रमुख उद्देश्य यह है कि राजस्थान राज्य में पशुपालन को बढ़ावा मिल सके। इस योजना के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार लोगों को भी रोजगार मिल सकेगा।

जो लोग अनपढ़ हैं एवं किसी कारणवश आगे पढ़ नहीं पाए वह लोग भी इस योजना के तहत बकरी पालन कर अपना खुद का रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना से राजस्थान राज्य में बकरियों की भी जनसंख्या में वृद्धि होगी। इसका एक उद्देश्य यह भी है कि कैसे भी करके राजस्थान में बेरोजगारी को समाप्त कर दिया जाए।

इसे भी पढ़ें: गाय और भैस खरीदने के लिए मिल रहा है 1 लाख 60 हजार का लोन, जानिए कैसे मिलेगा लोन

यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब लोगों की आय का प्रमुख साधन बनेगी। इसका एक बड़ा उद्देश्य यह भी है कि राज्य सरकार के द्वारा जो भी नई योजना लागू की जाती हैं। उनका लाभ ग्रामीण वर्ग के लोगों तक पहुंच नहीं पाता इस कारण से उनके लिए राज्य सरकार ने बकरी पालन योजना की शुरुआत की है।

बकरी पालन योजना में लोन की सब्सिडी – Bakri Palan Kaise Shuru Kare

अगर बकरी पालन योजना में कोई सामान्य जाति का आवेदक लोन लेना चाहता है, तो उसे इस योजना के तहत 50% सब्सिड दी जाएगी एवं अगर अधिकृत तथा अन्य वर्ग का कोई आवेदक इसमें लोन लेने के लिए आवेदन करता है, तो उसे 60% सब्सिडी दी जाएगी। इस तरह से बकरी पालन योजना में लोन की सब्सिडी को बनाया गया है।

बकरी पालन योजना से होने वाले लाभ – Bakri Palan Jankari

  • इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों के सभी गरीब बेरोजगार लोगों को रोजगार का एक साधन मिलेगा।
  • इस योजना के कारण किसानों की आय में अधिक वृद्धि होगी।
  • इस योजना में आप 5 लाख से 50 लाख तक की लोन राशि बैंक से प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आप ग्राम स्तर, ब्लॉक स्तर एवं जिला स्तर पर भी जा सकते हैं।
  • योजना से राज्य में बकरियों की जनसंख्या में भी वृद्धि होगी।
  • Bakri Palan Yojana के कारण जो लोग सरकारी नौकरी नहीं लग पाए और वह बेरोजगार बैठे हैं। तो उनको भी रोजगार मिलेगा।
  • इस योजना का लाभ अनपढ़ लोग भी उठा सकेंगे।
  • किसी कारण पैसों की जरूरत पड़ने पर आप बकरियों को बेचकर अपने पैसे प्राप्त कर सकते हैं।
  • बकरियां बहुत कम समय में प्रजनन कर लेती हैं, इससे आपकी बकरियों की संख्या अन्य जानवरों की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ेगी।
  • बकरियां अपने रखरखाव के साथ ही साल भर खाद,दूध व मांस आदि का उत्पादन करती हैं।
  • इस व्यवसाय को करने में आपको किसी भी प्रकार का तकनीकी ज्ञान नहीं लगाना पड़ता है।
  • बकरियां पालने के लिए आपको बड़ी जगह की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि यह कार्य बहुत कम जगह पर हों सकता है।

बकरी पालन योजना के लिए बैंक से लोन कैसे प्राप्त करें – Bakri Palan Ke Liye Loan Kaise Apply Kare

Bakri Palan Yojana के तहत अगर आप भी लोन लेना चाहते हैं, तो आपके पास किसी भी बैंक का एक क्रेडिट अकाउंट होना चाहिए। अगर आपके पास बैंक का क्रेडिट अकाउंट है, तो उसकी statement 2 साल की होनी चाहिए। अगर आपके पास यह चीजें हैं, तो आप बकरी पालन में अपने कुछ पैसे खर्च कर सकते हैं। कुछ पैसों की जरूरत पड़ने पर आप अपनी नजदीकी बैंक शाखा पर जाकर 10 से 15 बकरियों के लिए ऋण ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: एसबीआई बैंक दे रहा है 10 लाख का पशु लोन, इस तरीके से करे आवेदन

फिर आप इस ऋण की राशि का भुगतान धीरे-धीरे चुका सकते हैं।  इस तरह आप राजस्थान बकरी पालन योजना के अंतर्गत लोन ले सकते हैं।

बकरी पालन योजना से होने वाले लाभ – Bakri Palan Kaise Kare In Hindi

बकरी पालन का व्यवसाय एक बहुत बड़ा एवं कम खर्चीला वाला व्यवसाय है। इस योजना से व्यक्तियों को कई प्रकार के लाभ होते हैं। इस योजना से व्यक्तियों को होने वाले कुछ लाभ निम्नलिखित हैं।

  1. आप बकरियों के गोबर(मिंगणीयो) को खाद के रूप में बेचकर भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  2. खाल एवं ऊन को बेचकर आप पैसे प्राप्त कर सकते हैं।
  3. बकरियों के दूध को बेचकर पैसा प्राप्त कर सकते हैं।
  4. जो बकरियां दूध देती है, उनको बेचकर भी आप इससे पैसे प्राप्त कर सकते हैं।
  5. एवं जो बकरियां आपके कुछ काम की नहीं है, उनके मांस को बेचकर भी आप आय प्राप्त कर सकते हैं।

बकरी पालन योजना में पात्रता – Bihar Mein Bakri Palan Kaise Karen

  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक की उम्र 18 वर्ष से 65 वर्ष के बीच में होनी चाहिए तभी वह इस योजना में आवेदन कर सकता है।
  • जो लोग पारंपरिक रूप से गडरिया परिवार के होंगे, उन लोगों को इस योजना के तहत जल्दी ऋण दिया जाएगा।
  • Bakri Palan Yojana में राजस्थान राज्य की पिछड़ी जातियां, अनुसूचित जनजातियां एवं महिलाओं को भी उच्च प्राथमिकता दी जाएगी।
  • आवेदनकर्ता राजस्थान राज्य का का मूल निवासी होना चाहिए, तभी उसको इस योजना के तहत लाभ मिलेगा।
  • जिन भी किसानों को भेड़ बकरी आदि को पालने का अनुभव होगा, उन्हीं लोगों को इस योजना के तहत बैंक से लोन की राशि दी जाएगी।
  • इसके साथ ही यदि आप बकरी पालन फार्म खोलना चाहते हैं, तो उसको खोलने के लिए आपके पास कम से कम 20 बकरी एवं 1 बकरा होना अनिवार्य है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए बकरी पालनकर्ता के 0.25 एकड़ चरागाह की भूमि होना आवश्यक है।

बकरी पालन योजना में होने वाली कमाई  – Bakri Palan Se Kitni Kamai Hoti Hai

प्राचीन समय से ही हमारे यहां के गरीब लोग बकरियों को पालते आ रहे हैं, यह गरीब लोग उनको अपनी गाय का रूप मानते हैं। इस योजना में सभी गरीबों का ध्यान इसलिए आकर्षित होता है। क्योंकि इसमें खर्च बहुत कम होता है।

बकरियां 10 से 12 महीने के अंदर अंदर गर्भधारण योग्य हो जाती हैं। इसके हिसाब से वह 16 या 17 महीने में अपने पहले बच्चे को जन्म दे देती है। इस प्रकार कम समय में ही लोगों को आमदनी प्राप्त होने लगती है और लगभग एक बकरी एक बार में सामान्य रूप से एक या दो बच्चे को जन्म दे देती है।

इसे भी पढ़ें: कौन सा मसाला किस राज्य में पैदा होता है । आपको जरूर मालूम होना चाहिए

अगर किसी के पास सामान्य रूप से 14 या 15 बकरियां हो, तो वह 1 महीने में एक सरकारी नौकरी करने वाले व्यक्ति के समान पैसा कमा सकता है। इस कारण से आजकल के पढ़े हुए युवा भी सरकारी नौकरी ना करके, वह भी बकरी पालन का बिजनेस करते हैं।

बकरी पालन में होने वाली समस्याएं – Desi Bakri Palan Kaise Karen

बकरी पालन में ज्यादा बढ़ी परेशानी नहीं होती है। लेकिन इनसे कुछ सामान्य परेशानी अवश्य होती है।

  1. बकरी की देखभाल के लिए परिवार के एक सदस्य को बकरियों के पास ही रहना पड़ता है।
  2. सभी बकरियों को रोजाना कोई ना कोई खुली जगह में ले जाना पड़ता है। इससे उनका स्वास्थ्य ठीक रहता है।
  3.  बकरियों के लिए सुखे के स्थान की व्यवस्था करनी पड़ती है। अगर वह किसी गिले स्थान पर बैठ जाती है, तो वह बीमार हो सकती है।
  4. बकरी का दूध बहुत पौष्टिक होता है। परंतु बकरी से कुछ अजीब सी महक आती है।

बकरी पालन योजना में आवश्यक दस्तावेज – Bakri Palan Yojana Document

बकरी पालन योजना में आवश्यक निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  1. आवेदन कर्ता के मोबाइल नंबर
  2. आवेदक की ईमेल आईडी
  3.  आधार कार्ड
  4. बैंक की डायरी
  5. पहचान पत्र
  6. खानदानी जमीन के कागजात
  7.  निवास प्रमाण पत्र
  8.  पासपोर्ट साइज फोटो

बकरी पालन योजना हेतु आवेदन की प्रक्रिया – Bakri Palan Yojana Regiration

बकरी पालन योजना में आप निम्न प्रकार से आवेदन कर सकते हैं।

  1. Bakri Palan Yojana में आवेदन करने के लिए आवेदक को सबसे पहले अपने पास के किसी पशु कार्यालय में जाना होगा।
  2. पशु कार्यालय में पहुंचने के बाद आपको योजना अधिकारी से बकरी पालन योजना का एक आवेदन फॉर्म ले लेना है।
  3.  आवेदन फॉर्म को लेने के बाद आपको उस फॉर्म को एक बार अच्छे से पढ़ लेना है। फिर उसके बाद आवेदन पत्र में पूछी गई संपूर्ण जानकारियों को सही से भर दें।
  4. सभी संपूर्ण जानकारियों को भर देने के बाद आपको आवेदन पत्र के साथ मांगे गए जरूरी दस्तावेजों की फोटो कॉपी जोड़ देनी है।
  5. उसके बाद आप जहां से आवेदन फॉर्म को लाए थे, उसी स्थान पर इस फॉर्म को जमा करवा देना है।
  6. आवेदक के द्वारा आपकी संपूर्ण जानकारियों की जांच करने के बाद अधिकारी फॉर्म को आवेदन के लिए भेज देता है।
  7. इस प्रकार से बकरी पालन योजना में आपका आवेदन सफलता पूर्वक हो जाता है।

आवेदन फॉर्म की स्थिति कैसे चेक करें – Bakri Palan Yojana Status Check

  1. आपका फॉर्म आवेदन के लिए स्वीकृत हो गया है या नहीं है, इसको चेक करने के लिए आपको सर्वप्रथम गूगल क्रोम पर जाना है।
  2. गूगल क्रोम पर आ जाने के बाद आपको Bakri Palan Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर visit करना होगा।
  3. जैसे ही आप website  पर विजिट करते हैं, तो आपके सामने एक होम पेज खुलेगा
  4. होम पेज पर आ जाने के बाद आपको view status of your application के नाम का एक ऑप्शन दिखाई देगा,उस पर क्लिक कर देना है।
  5. जैसे ही आप क्लिक करते हैं, तो आपके सामने एक और नया पेज खुल जाएगा।
  6. आपका आवेदन देखने के लिए वहां पर एक ‘एप्लीकेशन फॉर्म’ खुलेगा। उस application form में आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर डाल देना है। उसके बाद सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  7. जैसे ही आप सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं, तो आपके सामने आवेदन की स्थिति आ जाएगी।
  8. इस तरह से आप अपने आवेदन की स्थिति को चेक कर सकते हैं।

बकरी पालन योजना में लॉगिन – Bakri Palan Yojana Login

  1. Bakri Palan Yojana योजना में login करने के लिए आपको सर्वप्रथम अपने क्रोम ब्राउजर को ओपन कर लेना है।
  2. फिर उसके बाद आपको बकरी पालन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर आ जाना है।
  3. जैसे ही आप एक साइड को विजिट करते हैं तो आपके सामने एक होम पेज आएगा। होम पेज पर ही आपको एक लॉगिन का ऑप्शन दिखेगा।
  4. उस ऑप्शन में आपको अपने आधार कार्ड नंबर और पासवर्ड दर्ज कर देने हैं। साथ ही में पूछी गई अन्य जानकारियों को भी डाल देना है।
  5. सभी जानकारियां डाल देने के बाद नीचे लॉगिन बटन पर क्लिक कर देना है।
  6. जैसे ही आप लोग इन बटन दबाते हैं तो आप Bakri Palan Yojana में लॉगिन हो जाओगे। वहां पर आप इससे संबंधित संपूर्ण जानकारियां प्राप्त कर सकेंगे।
  7. इस प्रकार से आप बकरी पालन योजना में लॉगिन पर पाओगे।

Bakri Palan Yojana FAQ

Q1. बकरी पालन योजना में कौन से आवश्यक दस्तावेज चाहिए?

Ans:- आवेदक का आधार कार्ड, बैंक की डायरी, अपने मोबाइल नंबर, निवास प्रमाण पत्र, जमीनों की फोटो कॉपी एवं आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो कॉपी।

Q2. बकरी पालन योजना का उद्देश्य क्या है?

Ans:- बकरी पालन योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में पशुपालन को बढ़ावा देना है।

Q3. बकरी पालने के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए?

Ans:- इस योजना के अंतर्गत बकरी पालने के लिए आवेदक के पास 0.25 एकड़ चरागे की भूमि होना आवश्यक है।

Q4. बकरी पालन योजना में कितनी कमाई की जा सकती है?

Ans:- इस योजना के अंतर्गत अगर आपके पास 14 से 15 बकरियां हैं, तो आप महीने के अच्छे पैसे कमा सकते हैं। जितना किसी छोटी सरकारी नौकरी में मिलता है।

Q5. बकरी पालन योजना पर आपको कितना लोन मिल सकता है?

Ans:- बकरी पालन योजना के तहत 2 बकरे 10 बकरियों के ऊपर आपको ₹50 हजार रुपए से लेकर 1 लाखं रूपए तक का लोन मिल सकता है।

Conclusion

उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको हमारी पोस्ट पसंद और समझ में आयी होगी। इस पोस्ट में हमने राजस्थान बकरी पालन योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त की। यदि आपको अभी भी कोई जानकारी समझ में नहीं आयी हो, तो आप हमारी पोस्ट को दोबारा पढ़ सकते हैं या फिर हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे

About Vinod Yadav

My name is Vinod Yadav and I am from Haryana. Although I do a job, but I am fond of writing. This blogging starts from here again. I belong to a farming family, so I have a good knowledge of agriculture. I am also an engineer in textile, so the market and plans are also taken care of. There's just one drawback. Bless you all. Hope to keep it. Jai Hind, Jai Jawan - Jai Kisan

Leave a Comment